Love sayari in hindi

  1. प्यार रहेगा हमेशा… लम्हे ये सुहाने साथ हो न हो, कल में आज ऐसी बात हो न हो, आपसे प्यार हमेशा दिल में रहेगा, चाहे पूरी उम्र मुलाकात हो न …….

तू मेरी जिंदगी से दूर हो गई रातों-रात तेरी बेवफाई मशहूर हो गई पथराई आँखों ने बयाँ कर

इस दौर में अहसास-ए-वफ़ा ढूँढने वालो, सेहरा में कहाँ मिलते हैं दीवार के साए। इस दौर में शायरी.

जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।
वो याद में किसी के खोया जरूर होगा।

आँखों में आंसुओ के, आने के बाद उसने,
धीरे से उसको उसने, पोंछा जरुर होगा।

जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।

कैसे जीऊ मैं खुशहाल ज़िन्दगी
उसकी मोहब्बत ने हमको मारा हैं

रखा था जो दिल संभाल कर
उस दिल को हमने हारा हैं

बनता हैं महफ़िलो की शान वो
पर बनता ना मेरा सहारा हैं

दूर भी हम कैसे रह सकते हैं
इंसां वो सबसे लगता प्यारा हैं.

जाए कहा अब उसे छोड़ कर
बिन उसके ना अब गुजारा हैं.

इंतजार में कटते हैं दिन और रात
दूजा ना अब कोई और चारा हैं.

बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है,
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है l

तड़प उठता हूँ दर्द के मारे,
ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है ।

अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ,
मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है।

मैंने पत्थरों को भी रोते देखा है, झरने के रूप में
मैंने पेड़ों को प्यासा देखा है, सावन की धुप में,
घुलमिल के बहुत रहते हैं, लोग जो शातिर हैं बहुत

ज़िन्दगी की हसीन राह पर तुम मुझसे आकर टकरा गए
दिखाकर आँखों को ख्वाब प्यारा सा, फिर उसे भिखरा गए
फूल अरमानों के जो भी खिले मेरे दिल में सब मुरझा गए
खुशियों को मेरी लूटकर तुम.., गमो के बादल बरसा गए

तुझे क्या खबर थी की तेरी यादो ने किस-2 तरह सताया

उलझन भरे दिन हैं मेरे, तनहा हैं राते
दे जाती हैं जख्म, मुझे तेरी वो बातें

हम भी बढ़ के थाम लेते तेरा दामन
यूँ तूने हमको अगर रुलाया ना होता

तेरी नजरो के हम भी एक नज़ारे होते
जो तूने अपनी नजरो में हमे बसाया होता

हमारी ज़िंदगी तो कब की भिखर गयी
हसरते सारी दिल में ही मर गयी
चल पड़ी वो जब से बैठ के डोली में
हमारी तो जीने की तमन्ना ही मर गयी

झांखकर देखा होता एक बार तो डोली के अंदर,
के हो गया हैं अब मेरी भी ज़िंदगी का पूरा सफर
तेरे साथ साथ अब मेरी भी मंज़िल ख़त्म हो गयी
बताने ना दिया तूने और कह दिया तू बेवफा हो

बिखरी हुयी ज़िंदगी तमन्नाओ का ढेर होती हैं
अच्छी शायरी शब्दों का हेर फेर होती हैं
टुटा हुआ दिल गम का घर होता हैं
नाकाम आशिक़ ज़ार ज़ार रोता हैं
हम जो सोचे कहा सच में वो सच होता हैं

रोता हूँ बहुत मैं तो गिड़गिड़ाता भी हूँ
अपने झख्मो पर मरहम लगता भी हूँ

फिर भी क्यों ये एहसास बार बार दे जाती हैं

कुछ ही पलों की वो मुलाकात थी
उदास बहुत वो सारी रात थी

ना भूक थी,.. ना प्यास थी
उससे मिलने की फिर से एक आस थी

ज़िन्दगी से रूठ जाती हैं हर ख़ुशी
उम्र भर बेचैनी भरी कुछ करवटे रह जाती हैं|

वफाये बिकती हैं यहाँ, नीलाम होते हैं वादे
घर की देहलीज़ पर बस उल्फ़ते रह जाती हैं

बिछड़ के भी नहीं जाती महक प्यार की कभी
कसक दिल में, बिस्तर में सलवटे रह जाती हैं

सदीयो से जागी आँखो को, एक बार सुलाने आ जाओ,
माना की तुमको प्यार नहीं, नफरत ही जताने आ जाऔ
जिस मोङ पे हमको छोङ गये, हम बैठे अब तक सोच रहे
क्या भुल हुई क्यो जुदा हुए, बस यह समझाने आ जाओ!

कैसे छिपाऊँ मैं मेरे दर्द को, दिल का इस पर पहरा हैं|
दर्द और मेरी ज़िन्दगी का रिश्ता, बहुत ही गहरा हैं |

तेरी याद मुझे क्यों तनहा कर जाती
कभी अकेले में हसांया…… तो कभी महफ़िलो में रुलाया
मैंने अपनों को तनहा देखा है, बेगानों के रूप में

छोड दो तन्हाई मे मुझको यारो..…
साथ मेरे रहकर क्या पाओगे….
अगर हो गई आपको भी मोहब्बत कभी
मेरी तरह तुम भी पछताओगे…

3 Replies to “Love sayari in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *